HomeBanna Shayari

बन्ना बाईसा शायरी | बन्ना एंड बाईसा लव शायरी | बन्ना और बन्नी शायरी

खम्मा घनी बन्ना & बाईसा !

आज हम आपके लिए बन्ना एंड बाईसा लव शायरी ले कर आयें है । आप हमारे इस वेबसाइट पर डेली कुछ न कुछ शायरी पढ़ सकते है हम रोज़ाना नयी नयी शायरियाँ ले कर आपके सामने आते है। आज इस पोस्ट में आप बन्ना और बाईसा से सम्बंधित लव शायरी पढेंगे।

बन्ना बाईसा शायरी | बन्ना बन्नी शायरी | बन्ना शायरी

बाईसा बहुत प्यार से मनाऊंगा आपको
एक बार मेरे होकर रूठो तो सही
बन्नासा !

बाईसा
प्यार वो नही जिस में जीत ओर हार हो
प्यार वो नही जिस में इज़हार ओर इनकार हो
असली प्यार तो वो है जिस में किसी को मिलने की उम्मीद भी ना हो फिर भी इंतज़ार हो !

छोटी सी लिस्ट है मेरी “ख्वाइशो” की
पहले भी “आप” ओर आखिरी भी “आप” !

कमाल की अदा है बन्नीसा हुकम में
वार भी दिल पर ओर ओर राज भी दिल पर !

रोक कर बैठे है जिंदगी को
बाईसा आओ तो शुरू करे !

बाईसा हुकम हम कोई किंग तो नही है
पर मेरा यकीन मानो आपको क्वीन बना के रखूंगा !

यकीन मानो बन्नासा आपके
इंतज़ार मे सिर्फ दिल ही नही
दिमाग, घड़ी और रास्ता
सब धक धक करता रहता है !

सुनो बाईसा
सब को प्यार करने के लिए
हम इस दुनिया में आए थे
पर बीच में अाप जरा ज्यादा पसंद आ गए !

माना की दूरियाँ कुछ बढ़ सी गयी हैं
लेकिन तेरे हिस्से का वक़्त आज भी तन्हाई में गुजरता है !

सुनो ना बाईसा
वैसे तो कोई बुरी आदत नहीं हमें
बस आपको याद करने की लत लग गई है !

आपकी मोहब्बत की हिफाज़त
कुछ इस तरह की है हमने
जब कभी किसी ने प्यार से देखा
नजरे जुका ली हमने !

सुनो बाईसा
वख्त उस पल थम जाता है
जब आप मेरे लिए मुस्कुराती हो !

प्यार करते है आप से गुलामी नही
माना कि आप किसी रानी से कम नही
पर वो रानी भी
रानी क्या जिसके राजा हम नही !

सुनो बन्नीसा
पतंग काट जाए मेरी तो कोई परवाह नही
आरज़ू बस ये है
की आपकी छत पे जा गिरे !

बहुत शौक़ है आपको हुक्मरानी करने का
बाईसा ये दिल सल्तनत है आपकी
बस राज़ कीजिए !

हमारी चाहत ओर आपकी मोहब्बत में सिर्फ इतना ही अंतर है
आपके कुछ हिस्सों में हम है और हमारी रूह रूह में सिर्फ आप हो !

तख्त ही नही रहा
अब किसी से मोहब्बत करने का
क्योंकि हद से ज्यादा चाहो
तो लोग मतलबी समझने लगते है !

एहेसास मिटा तलाश मिटी ओर मिट गई सारी उम्मीदे
सब मिट गया पर जो न मिट सका वो है
सिर्फ आपकी यादे !

सिर्फ आपकी याद में रहता हूं
बाईसा
कसम से ओर कोई नशा नही करता
बन्नाजी !

आपका रुप भले ही
लाखों मे एक होगा
पर हमारी
बन्नागिरी भी
करोड़ो मे एक है !

क्या जरुरत हे बाईसा आपको हमारे लिये करवाचौथ करने की
जब आपकी खुशी ही हो वजह हमारे जीने की !

सुनो बाईसा
चाहत तो हम भी रखते है
किस के दिल मे हम भी धड़कते है
न जाने वो कब मिलेंगे जिन के लिए हम रोज़ तड़पते है !

बन्निसा बहुत प्यार से मनाऊंगा आपको
एक बार मेरे होकर रूठो तो सही
बन्नासा !

अच्छे बन्ना कही नही मिलते है
मिले हुए बन्ना को अच्छा बनाना पड़ता है !

सुनो बाईसा
आप ही रख लो अपना बना कर
औरो ने तो छोड़ दिया आपका समज कर !

उठाते नही है
आंख किसी ओर की तरफ
बाईसा हुकुम
पाबंद कर गई है आपकी नजर मुझे !

किसी ने कहा की ठाकुर सा जरा अपनी बेटी की लगाम कस के रखा करो
हमारे पापा हुकम ने भी कह दिया लगाम तो घोडे के लगाई जाती है शेरनीयो के नही !

सुनौ बाईसा
आज किसी ने पूछा क़यामत का मतलब
और हमने घबरा के कह दिया की रूठ
जाना आपका !

सुनौ बन्नीसा दुआ है उपरवाले से
थारो म्हारो 2018 मॆ ब्याव हो
जब खन्नके चुड़ी म्हारे आँगन मे
वो आपकी कलाई हो बईसा रा लाड़ला !

सुनो बाईसा
किसी को पसंद बनाना
कोई बड़ी बात नही है
पर किसी को पसंद
बन जाना बहुत बड़ी
बात है !

पता है बन्नासा आपकी ओर हमारी मुस्कान में फ़र्क़ क्या है
आप ख़ुश होकर मुस्कुराते हो
हम आपको देख कर मुस्कुराते है !

सुनो बन्नासा💕
लफ्जों की बनावट नहीं आती मुझे
आप अच्छे लगते हो सीधी से बात है !

जिन बन्नीसा की तस्वीर सदियों से मेरे दिल में है
काश हकीक़त मे उन बाईसा से मुलाक़ात हो जाये !

सुनो बन्ना
नज़रेँ ढूँढ रही हैँ बेतहाशा आपको
काश कि दुनिया मेँ आप ही आप होते !

सुनौ बाईसा
फिर लगेगी नजर आपको
देखो आज फिर से आप काजल लगाना
भूल गई !

बन्नीसा आप मोहब्बत हो बन्ना की
जरा सा अकड़ कर चलो !

अब तो हद कर दी बन्निसा ने कहते हे
सुनो बन्ना जी
टाईमपास के लिए भले ही कोई गर्लफ्रेंड
रख लो
हम को धोखा दिया तो मार ही डालेंगे !

सो जाऊ बन्निसा
या आपकी याद में खो जाऊ
ये फैसला भी नही होता मुझसे
और सुबह हो जाती हे !

इतने भी प्यारे नही हो आप
बन्नासा
बस मेरी चाहत ने आपको सर पर चढ़ा रखा है !

सुनो बन्ना मेरी बात
गवाह नहीं कोई
मगर
चोरी ❤ दिल की
आपने ही की है !

बाईसा ने कहा पागल हो आप कुँवर सा
मैने कहा सिर्फ आपके लिए
वरना
औरो की तो इतना कहते ही सांसे रुक जाती हे !

वो बस्ती ही किस काम की
जहा बन्निसा जैसी हस्ती ना हो !

मेरी मोहब्बत ही देखनी है बन्नीसा तो गले लगाकर देखो
अगर धड़कन ना रूक गयी तो मोहब्बत ठुकरा देना !

हुकुम ! उम्मीद है आपको हमारी बन्ना और बाईसा लव शायरी पसंद आई होगी। अगर आपको आगे भी बन्ना – बाईसा शायरी चाहिए तो आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करिए और हमारे पोस्ट्स को सोशल मीडिया में शेयर जरुर करिए।

" data-link="https://twitter.com/intent/tweet?text=%E0%A4%AC%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%A8%E0%A4%BE+%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%88%E0%A4%B8%E0%A4%BE+%E0%A4%B6%E0%A4%BE%E0%A4%AF%E0%A4%B0%E0%A5%80++%E0%A4%AC%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%A8%E0%A4%BE+%E0%A4%8F%E0%A4%82%E0%A4%A1+%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%88%E0%A4%B8%E0%A4%BE+%E0%A4%B2%E0%A4%B5+%E0%A4%B6%E0%A4%BE%E0%A4%AF%E0%A4%B0%E0%A5%80++%E0%A4%AC%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%A8%E0%A4%BE+%E0%A4%94%E0%A4%B0+%E0%A4%AC%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%A8%E0%A5%80+%E0%A4%B6%E0%A4%BE%E0%A4%AF%E0%A4%B0%E0%A5%80&url=http%3A%2F%2Fwww.rajputanashayari.com%2F%E0%A4%AC%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%A8%E0%A4%BE-%E0%A4%AC%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%A8%E0%A5%80-%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%88%E0%A4%B8%E0%A4%BE-%E0%A4%B2%E0%A4%B5-%E0%A4%B6%E0%A4%BE%E0%A4%AF%E0%A4%B0%2F&via=">">Tweet
126 Shares

Comments (1)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *